मुख्य कंटेंट पर जाएं
मेन्यू खोलने के लिए क्लिक करें
मेन्यू बंद करने के लिए क्लिक करें
मुख्य सामग्री शुरू करें

संधारणीयता हमारे मूल सिद्धांतों में से एक है. एफएमसी, विश्व स्तर पर और भारत में हमेशा अपने आंतरिक और बाहरी हितधारकों के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी पर केंद्रित रहा है. हम संगठन के भीतर और बाहर, जिन समुदायों के साथ काम करते हैं, उनके साथ गहन जुड़ाव, जागरूकता और विश्वास के माध्यम से निरंतर अपने संपोषणीय प्रयासों का निर्माण करते रहे हैं।

हमारे प्रमुख लक्ष्यों में से एक लक्ष्य है "सही और उपयुक्त संसाधन का संरक्षण”. हमें यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि हमारा पनोली, गुजरात में एक निर्माण कारखाना है, जो डीआईएसकोएम (वितरण कंपनी), जीईटीकेओ (गुजरात एनर्जी ट्रांसमिशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड) और जीईडीए (गुजरात ऊर्जा विकास एजेंसी) के साथ, एक सौर ऊर्जा समझौते के तहत, 50 मेगावाट के संयंत्र से सौर ऊर्जा प्राप्त करने में सफल रहा है। सौर ऊर्जा का उपयोग करके, पनोली कारखाना के संयंत्रों में से शून्य जीएचजी उत्सर्जन होता है. इससे पूरे कारखाने की सीएचजी में कमी आई है और 10% का वार्षिक लाभ प्राप्त हो रहा है। इससे न केवल हमारे कार्बन उत्सर्जन को कम करने और हमारे संधारणीयता के लक्ष्यों के योगदान में मदद मिलेगा, बल्कि लागत बचाने में भी मदद मिलेगा, क्योंकि सौर ऊर्जा, उर्जा का एक स्थायी स्रोत है।

सौर ऊर्जा स्रोत के लिए 50 मेगावाट का संयंत्र