मुख्य कंटेंट पर जाएं
मेन्यू खोलने के लिए क्लिक करें
मेन्यू बंद करने के लिए क्लिक करें
मुख्य सामग्री शुरू करें

एफएमसी विश्व स्तर पर किसानों के लिए अग्रणी समाधान प्रदाताओं में से एक है, जो उनकी फसल के नुकसान को कम करने और उनकी पैदावार और मुनाफे को बढ़ाने में मदद करता है।

एफएमसी में प्रबंधन संबंधी नियम, अनुसंधान एवं विकास, उत्पाद पोर्टफोलियो, और विपणन रणनीतियों के तहत तैयार किए जाते हैं. हम उत्पाद के उचित प्रबंधन के लिए प्रतिबद्ध हैं और उत्पाद की पूरी अवधि के अनुसार, उसके सुरक्षित, टिकाऊ और उचित उपयोग को बढ़ावा देते हैं. हमारा लक्ष्य, उत्पाद के जीवन-चक्र के प्रत्येक चरण में सक्रिय प्रबंधन कार्यों द्वारा अपने व्यवसाय की स्थिरता को बढ़ाना है।

उत्पाद प्रबंधन प्रक्रिया में, ग्राहक द्वारा उत्पाद की खोज, इस्तेमाल और इसके अपशिष्ट या खाली डिब्बों के अंतिम निपटान तक का हर चरण शामिल है. हम सुनिश्चित करते हैं कि हमारी नई खोज समाज और पर्यावरण के लिए बेहतर हो. हमारे अत्याधुनिक आर एंड डी संस्थान में नई खोजों का परीक्षण किया जाता है. इसके साथ ही त्रुटिहीन नियामक डेटा, उत्पाद के लिए उचित सुझाव, ज़िम्मेदारीपूर्ण निर्माण / परिवहन और आवेदकों द्वारा हमारे उत्पादों का सुरक्षित और विवेकपूर्ण उपयोग के साथ-साथ कचरे और खाली डब्बों के सुरक्षित निपटान पर जानकारी देना सुनिश्चित किया जाता है।

विष नियंत्रण केंद्र पर 24x7 सहायता उपलब्ध: 1800-102-6545

'कीटनाशक विष पर नियंत्रण' पाने के लिए, एफएमसी के पास योग्य चिकित्सक द्वारा संचालित कॉल सेंटर है, जिसका नंबर ऊपर उपलब्ध है. इस कॉल सेंटर की सुविधा, वर्ष के 365 दिन, दिन और रात उपलब्ध रहती है. एफएमसी के किसी भी उत्पाद के इस्तेमाल के दौरान, किसी इंसान या जानवर पर हुए किसी भी प्रतिकूल प्रभाव के बारे में शिकायत दर्ज की जा सकती है. चाहे ऐसा आकस्मिक, अनजाने या उपयोग/दुरुपयोग के दौरान हुआ हो. आप दिए गए इस नंबर पर कॉल करके सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

प्रतिकूल प्रभाव की रिपोर्ट दर्ज करने के लिए क्या करें?

एफएमसी के दिए गए नंबर1800-102-6545 पर कॉल करें. कॉल करते समय निम्नलिखित जानकारी तैयार रखें:

  1. नाम
  2. लोकेशन
  3. संपर्क नंबर
  4. जिले का नाम (अनिवार्य)
  5. राज्य (अनिवार्य)
  6. शहर/तहसील/तालुका
  7. मेडिकल एमरजेंसी टाइप a7 के बारे में बुनियादी जानकारी
  8. शामिल एफएमसी उत्पाद

उत्पाद के प्रबंधन के लिए प्रशिक्षण:

यह सुनिश्चित करने के लिए कि एफएमसी के उत्पादों का इस्तेमाल उचित, सुरक्षित और विवेकपूर्ण तरीके से किया जा रहा है, एफएमसी, किसानों, विक्रेताओं, पेशेवर चिकित्सकों, स्प्रे-ऑपरेटर, उपयोगकर्ता, और एफएमसी के कर्मचारियों के लिए नियमित तौर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन करता है| यह कार्यक्रम, एफएमसी द्वारा या क्रॉपलाइफ इंडिया जैसी सहायक कंपनी की मदद से वर्ष भर आयोजित किए जाते हैं।

ऐसे प्रशिक्षण सत्रों के दौरान, सामान्य रूप से फसल सुरक्षा उत्पादों और विशेष रूप से एफएमसी उत्पादों की खरीद और उपयोग के दौरान अपनाई जाने वाली सर्वोत्तम पद्धतियों को सिखाया जाता है. इनके अलावा, इस्तेमाल होने वाले उपकरणों की देखरेख और लेबल निर्देशों को पढ़ने के तरीके पर भी प्रशिक्षण दिया जाता है।

एफएमसी किसानों को सलाह देता है कि वे निम्न बातों का ध्यान रखें:

  1. एफएमसी के उत्पाद खरीदने पर डीलर से बिल लेना न भूलें।
  2. सही समय पर सही कीट के लिए सही उत्पाद का इस्तेमाल करें।
  3. छिड़काव के लिए उत्पाद की सही मात्रा का इस्तेमाल करें।
  4. कीटनाशक लगाने/छिड़काव करने के लिए सही और सुव्यवस्थित उपकरणों का उपयोग करें
  5. उत्पाद को मिलाने और इस्तेमाल करने के लिए, सही पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) किट पहनें।
  6. उत्पाद के लेबल पर दिए गए निर्देशों को सही तरह से पढ़ें और उनका पालन करें।
  7. हवा की विपरीत दिशा में छिड़काव न करें।
  8. स्प्रे करने के बाद अच्छे से स्नान करें।
  9. कीटनाशक डब्बों को सुरक्षित तरीके से बंद करके ठंडी और सूखी जगह पर बंद करके रखें, जहां बच्चे न पहुंच पाएं।
  10. लेबल पर दी गई जानकारी के हिसाब से खाली डब्बों को नष्ट करने से पहले तीन बार धोएं।